19 अगस्त, 2009

बरखा बहार आई


मेह बाबा कुछ मेहरबान हुआ और बरखा बहार आई। वागड में यो तों पर्याप्‍त बारिश नहीं हुई पर डूंगपुर जिले के कुछ बांध लबालब हो गए। कई छोटे छोटे एनीकट बह निकले। जिले के डिमीया व मारगिया बांध लबालब होकर छलक गए और इन पर मनोहारी नजारा बन पडा। आपके लिए खेतों, एनीकट और मारगिया बांध के इस नजारे को सहेज कर परोसा जा रहा है। आप भी शामिल हो जाईये और गाइये ़़़ बरखा बहार आई़़़़़़




डूंगरपुर जिले के मारगिया बांध का सौन्‍दर्य अद़भुत है, अतुलनीय है। कई पहाडों के घेरे में समाई हुई अथाह जलराशि वैसे ही एक नजर में हर किसी को आकर्षित कर लेती है और जब यह लबालब होकर छलकता है तो इसका सौन्‍दर्य द्विगुणित हो जाता है। सिर्फ फोटोग्राफ देखने से मन संतुष्‍ट नहीं होगा। मैने निसर्ग सौन्‍दर्यप्रेमियों के लिए एक विडियो क्लिप्‍स भी बनाया है आपके मध्‍य रखना चाहूंगा---- शायद पसंद आएगा।

1 टिप्पणी:

  1. बहुत ही शानदार पहल. फोटो तो लाजवाब हैं ही, समय की नब्ज पकड़ती खबरें भी रोचक हैं. शायद डूंगरपुर केन्द्रित यह पहला ब्लॉग हैं. आशा है आगे डूंगरपुर के रमणीय नजारों को आप अपने माहिर कैमरे में कैद करके हमें देखने का अवसर देंगे. कृपया इसे जारी रखिये. ताकि उपेक्षा का शिकार अनदेखा डूंगरपुर देश और दुनिया के सामने आये. हार्दिक साधुवाद और तहेदिल से बधाई.

    उत्तर देंहटाएं